‘एक बार सुन तो लो, लेकिन ब्राह्मणों ने एक नहीं सुनी…’ विरोध के बाद पूर्व CM खट्टर को छोड़ना पड़ा कार्यक्रम

पानीपत. हरियाणा के पानीपत में रविवार को एक कार्यक्रम के दौरान पूर्व सीएम और करनाल से भाजपा प्रत्याशी मनोहर लाल खट्टर (Manohar Lal Khattar) को विरोध का सामना करना पड़ा. इस दौरान पूर्व सीएम को कार्यक्रम को छोड़कर जाना पड़ा. कार्यक्रम में लोगों ने उन्हें भाषण देने से भी रोक दिया.

दरअसल, रविवार को ब्राह्मण समाज ने पानीपत की नई अनाज मंडी में परशुराम जयंती का कार्यक्रम रखा था. इस कार्यक्रम में कांग्रेस और नेता भाजपा के नेता पहुंचे थे. अहम बात यह है कि प्रोग्राम आयोजित करवाने वाली कार्यकारिणी के सदस्यों को भी यह नहीं पता था कि करनाल लोकसभा से प्रत्याशी पूर्व मुख्यमंत्री मनोहर लाल भी कार्यक्रम में पहुंचेंगे. कार्यकारिणी के सदस्यों की तो आंखें उसे समय खुली रह गई, जिस समय मनोहर लाल की सिक्योरिटी उनके कार्यक्रम में पहुंची और खुद मनोहर लाल भी वहां स्टेज पर आ पहुंचे.

ऑटो चालक की बेटी थी शीतल, ब्वॉयफ्रेंड विनोद शादीशुदा.. मनाली मर्डर मिस्ट्री में चौंकाने वाला खुलासा

हालांकि, जिस समय मनोहर लाल स्टेज पर पहुंचे तो परशुराम जयंती के कार्यक्रम में मौजूद किसी भी व्यक्ति ने उनका विरोध नहीं किया. उन्हें मंच पर माइक तक दिया गया. लेकिन जैसे ही मनोहर लाल ने इलेक्शन और वोट के लिए अपील की तो जनता ने हूटिंग और विरोध करना शुरू कर दिया. मौके पर मौजूद जनता ने कहा कि यह मंच राजनीति का नहीं है. यहां से आप वोटों की अपील मत कीजिए. मंच पर मौजूद दूसरे माइक से लोग बोले कि यह राजनीतिक प्रोग्राम नहीं है.

निमंत्रण दिया गया था-मनोहर लाल 

मनोहर लाल तो यह सोचकर कार्यक्रम में गए थे कि वह कार्यक्रम में पहुंचकर ब्राह्मण समाज में 36 बिरादरी के लोगों से अपने पक्ष में वोट डालने की अपील करेंगे. मंच से मनोहर लाल ने यह भी कहा कि उन्हें निमंत्रण दिया गया और इसके लिए वह ब्राह्मण समाज का धन्यवाद करते हैं. लेकिन उनके आने की जानकारी ब्राह्मण समाज के अधिकतर लोगों को नहीं थी. इस दौरान पूर्व सीएम मनोहर लाल खट्टर कहते रहे, ‘एक बार सुन तो लो, लेकिन ब्राह्मणों ने एक नहीं सुनी’. फिर उन्हें कार्यक्रम से छोड़ना पड़ा.

Tags: CM Manohar Lal Khattar, Haryana News Today, Loksabha Election 2024, Loksabha Elections

Leave a Comment